Gullak Season 3 Review: मिडिल क्लास के किस्सों की बेहतरीन ‘गुल्लक’, बिंच वॉच करने के पांच खूबसूरत बहाने

Movie Review: Gullak Season 3 कलाकार: गीतांजलि कुलकर्णी , वैभव राज गुप्ता , हर्ष मायर , जमील खान और सुनीता राजवर लेखक: दुर्गेश सिंह और विदित त्रिपाठी निर्देशक: पलाश वासवानी निर्माता: अरुणभ कुमार OTT: Sony LIv

हिंदुस्तानी मिडिल क्लास की कहानियां छोटे पर्दे पर काफी हिट रही हैं.

'हम लोग' से 'कहानी घर घर की' तक, घर-घर की कहानियों का स्वाद हिंदी भाषी दर्शकों ने बदल दिया है।

जब ओटीटी आया तो यह स्वाद भी बदल गया।

छत पर सूखी लाल मिर्च का तड़का लगा तो कभी 'पंचायत', कभी 'ये मेरी फैमिली' तो कभी 'Gullak ' जैसी सीरीज में मिडिल क्लास के ये किस्से ओटीटी पर भी खूब देखे गए.

वैसे तो लोग वेब सीरीज 'पंचायत' के दूसरे सीजन का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं, लेकिन सोनी लिव के पास इसका कोई जवाब नहीं है.

उन्होंने अपनी लोकप्रिय वेब सीरीज Gullak Season 3 पांच एपिसोड के साथ रिलीज किया है।

इस बार कहानी थोडा व्यंग्यात्मक हास्य से आगे बढ़कर दिल तक पहुंच गई है।

मामला भावुक हो गया है। अन्नू मिश्रा बड़े हो गए हैं।

उनके कंधों पर घर की जिम्मेदारियां भी नजर आ रही हैं, लेकिन सीरीज का यह सीजन उनके छोटे भाई अमन मिश्रा की कला से जगमगा उठा है.

परेशानियां मिडिल क्लास की

Gullak Season 3 Web Series की कहानी शुरू होती है अन्नू मिश्रा को नौकरी मिलने से और उनकी पंचायत मंदिर के बाहर।

सोनी लिव की यह सीरीज बिंच वॉच के लिए बिल्कुल परफेक्ट है।