रैम क्या हैं | What is RAM in Hindi – 2021

अगर आप Ram के बारे में जानना चाहते हैं कि रैम क्या हैं,, What is RAM in Hindi तो आप लोग सही ब्लॉग पर आए हुए हैं. इस पेज पर आपको Ram से सम्बन्धित सारी जानकारी मिल जाएगी.

आप सभी लोग Computer, Laptop या Mobile तो जरूर ही चलाते होगें. या अगर आप कभी ना कभी Mobile या Computer खरीदने दुकान गए होंगे, तो वहां पर दुकानवाला आपसे Ram से सम्बन्धित कुछ न कुछ सवाल पूछेगा कि आपको कितने GB Ram वाला फोन या कंप्यूटर लेना है.

Ram चाहे फिर Computer हो या Mobile हो सभी डिवाइस के लिए बहुत ही जरूरी है. क्योंकि Ram एक प्रकार से मेमोरी होता है. इसके वजह से डिवाइस सही तरह से काम करता है. आइए अब हम आपको पूरी details में समझाते है कि रैम क्या हैं, What is RAM in Hindi

रैम क्या हैं | What is RAM in Hindi

Random Access Memory (RAM) वह क्षेत्र है जिसका उपयोग कंप्यूटर के साथ काम करते समय Program और उनके Data को रखने के लिए किया जाता है। RAM का अर्थ है कि Memory को random रूप से पढ़ा और लिखा जा सकता है। Ram को Short Term Memory के रूप में भी जाना जाता है. क्योंकि एक बार बिजली बंद हो जाने पर रैम का सारा डेटा मिटा दिया जाता है।

RAM एक प्रकार की Volatile Memory होती हैं. इसकी वजह से Ram के अंदर जो भी डाटा सेव रहता है वो device बंद होने के बाद Delete हो जाता है. Ram को Direct Access Memory भी कहा जाता हैं.

RAM किस तरह की मेमोरी है

RAM एक Primary Memory है. अगर मैं बात करूं तो Computer में 3 मुख्य प्रकार के Memory होते हैं.

  1. Primary Memory
  2. Secondary Memory
  3. Cache Memory

Primary Memory क्या है ?

वैसे अगर बात किया जाए तो Primary Memory बहुत ही यूज किया जाता है. Primary Memory का उपयोग चार उद्देश्यों के लिए किया जाता है।

  • Input Data को तब तक store करना जब तक CPU Processing के लिए तैयार न हो जाए।
  • Calculation के लिए उपयोग किए जाने वाले कागज की शीट की तरह एक working Storage स्थान के रूप में.
  • एक Output Storage क्षेत्र के रूप में जो तैयार परिणाम रखता है.
  • एक Program storage एरिया के रूप में जो Processing निर्देशों को स्टोर करता है।

ये अलग क्षेत्र तय नहीं हैं। प्रत्येक क्षेत्र का आकार आवेदन से आवेदन में different होता है। रैम क्या हैं | What is RAM in Hindi

Secondary Memory क्या है ?

Computer का Primary Storage या Main Memory अस्थिर और महंगी होती है। इसलिए, Data और अन्य सूचनाओं को संग्रहीत करने के लिए किसी को कुछ Storage Device की आवश्यकता होती है। यह सस्ता होना चाहिए और बिजली बंद होने पर सामग्री को ढीला नहीं करना चाहिए। इस Storage को Secondary  storage कहा जाता है। सभी secondary  storage डिवाइस Input और Output Device दोनों के रूप में कार्य करते हैं।

Cache Memory क्या है ?

कंप्यूटर का CPU एक तेज़ डिवाइस है। लेकिन storage device CPU की तरह तेज नहीं होते हैं। इन devices के कारण बहुत समय CPU को धीमा करना पड़ता है। High Speed RAM के एक छोटे से हिस्से का उपयोग अक्सर आवश्यक जानकारी रखने के लिए किया जाता है।

रैम कितने प्रकार की होती है (Types Of RAM)

देखा जाए तो इस दुनिया में ऐसी कोई चीज नहीं है. जिसको आगे और भी Update ना किया जाए. लोग  हमेशा कुछ न कुछ अपडेट करने के लिए तत्पर रहते हैं. क्योंकि वह चाहते हैं कोई भी चीज और भी अच्छा बन सके.  तो ऐसे में RAM को भी अच्छा बनाने के लिए कोशिश करते रहते हैं इसलिए RAM दो प्रकार के होते हैं.

1. SRAM
2. DRAM

SRAM

SRAM का मतलब Static Random Access Memory होता है. यह एक ऐसा SRAM होता है जिसको कभी रिफ्रेश नहीं करना पड़ता. यह हमेशा Static Position में रहता है.  क्योंकि जैसे कि इस नाम Static पड़ता हैं और फिर Static का मतलब स्थाई होता हैं.

रैम क्या हैं | What is RAM in Hindi

अभी मैने आपको बताया है कि जब तक Device जैसे Computer Power On रहता हैं तब तक सभी Data Available रहते हैं लेकिन जब आप Power off कर देते हो तब सारा डाटा remove हो जाता हैं. ठीक उसी प्राकार SRAM भी काम करता है. क्योंकि SRAM भी एक Volatile Memory हैं. रैम क्या हैं | What is RAM in Hindi

आपने देखा होगा कि जब आप अपना computer चलाते रहते हो और उसमे जो काम करते रहे हो अगर बिना Save किए अपने Computer का Power supply Off कर दो. तो जो काम आप कर रहे होगे वो सब अब रिमूव हो जाएगा.

Characteristic Of SRAM

  • SRAM बहुत तेज होता है.
  • इस रैम की साइज बहुत ही होती है.
  • ये बहुत महंगी होती है.
  • ये बहुत पावर लेती है

DRAM

DRAM का मतलब Dynamic Random Access Memory होता हैं. DRAM हमेशा चलता ही रहता हैं. इसलिए आपने देखा होगा कि बार बार हमे रिफ्रेश करना पड़ता है. आप DRAM के पहले शब्द से ही अंदाजा लगा सकते हैं कि Dynamic मतलब हमेशा गतिमान होता है. अर्थात यह DRAM हमेशा परिवर्तित होता रहता है. DRAM एक Volatile Memory होता हैं.

Characteristics Of  DRAM

  • इसकी साइज बहुत कम होती है
  • इसको बार बार रिफ्रेश करने की जरुरत होती हैं.
  • ये बहुत सस्ती होती है.

SRAM और DRAM में अंतर

नीचे मैंने आपको टेबल बनाके विस्तार से समझाया हुआ है. इस टेबल तो जरूर पढ़े।

SRAM DRAM
1. इसको बार बार refresh करने की जरुरत नहीं.इसको बार बार Refresh करने की जरुरत है .
2. ये काफी तेज है.ये काफी धीमी है.
3. इसकी size ज्यादा है.इसकी Size कम है .
4. ये बहुत कम दिनों तक चलती है.ये बहुत दिनों तक चलती है.
5. इसे Power ज्यादा  चाहिएइसे Power कम चाहिए

RAM क्यों जरूरी होता है?

जैसा कि आप सब जानते हैं कि RAM एक Memory होती है. जैसे कि जो आप सोचते हैं, जो आप बोलते हैं, वह अपने दिमाग से बोलते हैं. इसी प्रकार अगर आप Computer या Mobile चलाते होंगे तो उसमें जो कोई भी Functions Fast काम करता है. वह RAM की वजह से होता है. अगर आप के RAM की speed बहुत High होगी. तो आपको response बहुत ही जल्दी मिलेगा.

RAM क्यों जरूरी होता है?
RAM क्यों जरूरी होता है?

इस प्रकार RAM काम करता है. मान लीजिए आपने किसी Heavy Game को डाउनलोड कर लिया है. अब आपके Mobile की RAM बहुत ही कम है मान लीजिए आपकी 2GB RAM है तब आप देखेंगे कि आपकी Mobile Hang करने लगेगी. क्योंकि आपकी RAM 2GB की है. इस वजह से आपके मोबाइल की Memory बहुत ही कम है.

अगर वहीं पर आपके पास 8GB RAM होता तो आपका गेम बहुत ही High Speed से काम करता. तो इसलिए आपके किसी भी device जैसे कि Computer, Mobile आदि के लिए RAM बहुत ही जरूरी Part होता हैं.

RAM कितना होना चाहिए?

जब आप एक New Mobile या Computer लेने जाते होंगे. तब आपके दिमाग में यह सवाल जरूर आता होगा कि हमें कितने GB RAM को लेना चाहिए. क्योंकि आज के समय में ऐसे बहुत सारे Software होते हैं या app होते हैं जो कि बहुत Heavy होते हैं.

यदि मान लीजिए आप अपने मोबाइल में Game को Download करते हैं तो अब game खेलने के लिए आपको High Speed वाली राम चाहिए होगी. इसलिए हो सके तो आप RAM जायदा GB की लेने की कोशिश करें. अगर आपके पास बजट नहीं है तो आप Minimum 4GB RAM तो ले ही ले. क्योंकि 4GB Multi Tasking काम के लिए अच्छा होता है.

अगर आप उससे भी नीचे वाला RAM लेना चाहते हैं जैसे 2GB राम आप अगर लेना चाहते हैं तो ले सकते हैं. लेकिन अगर मैं अपनी राय दूं तो आपको minimum 4GB RAM तो लेनी ही चाहिए. क्योंकि जब आपके RAM की high speed होगी तो वह बहुत better response मिलेगा.

Also Read:

मोबाइल में रैम क्या होता है | RAM Kya Hai mobile me

अगर मैं आपसे बात करूं कि मोबाइल में कौन सा RAM लगा हुआ होता है. तो पहली बात मोबाइल की Power को बचाने के लिए उसी प्रकार RAM को develop किया जाता है जिससे कि आपकी Battery बहुत ही कम खर्च हो और आपके मोबाइल की Performance भी बहुत बढ़िया हो.

RAM Kya Hai mobile me
RAM Kya Hai mobile me

Mobile Phone में ज्यादातर LPDDR RAM का इस्तेमाल किया जाता हैं.  क्योंकि LPDDR RAM मोबाइल फ़ोन की Battery के Power को Save करते हुए बहुत बढ़िया Performance देने की कोशिश करता है. LPDDR का पूरा मतलब Low power Double data synchronous RAM होता है.

यहां पर Low Power शब्द आया हुआ है. इससे आप अंदाजा लगा सकते है कि Low Power का मतलब ही कम पावर लेना होता है. इसलिए Mobile Phone में ज्यादातर LPDDR RAM का ही इस्तमाल किया जाता है.

Computer में कौन सा RAM होता हैं

अब मैं अगर बात करूं कि Computer में कौन सा RAM इस्तेमाल होता हैं तो Computer में सबसे ज्यादा उसकी Performance Speed देखा जाता है. Computer के RAM को बनाते वक्त उसके Performance को पहले ध्यान दिया जाता है. इस लिए Computer में ज्यादा तर PCDDR का इस्तेमाल किया जाता है.

आप को बता दे कि PCDDR का पूरा नाम Standard Double Data Synchronous RAM होता हैं. PCDDR कंप्यूटर की Performance Speed को बहुत ही तेज़ बनाता है. इस लिए Computer में ज्यादा तर PCCDDR का ही इस्तमाल किया जाता है.

RAM की परिभाषा

RAM एक प्रकार की Volatile Memory होती हैं. इसकी वजह से Ram के अंदर जो भी डाटा सेव रहता है वो device बंद होने के बाद Delete हो जाता है. Ram को Direct Access Memory भी कहा जाता हैं.

कंप्यूटर रैम क्या है

अब मैं अगर बात करूं कि Computer में कौन सा RAM इस्तेमाल होता हैं तो Computer में सबसे ज्यादा उसकी Performance Speed देखा जाता है. Computer के RAM को बनाते वक्त उसके Performance को पहले ध्यान दिया जाता है. इस लिए Computer में ज्यादा तर PCDDR का इस्तेमाल किया जाता है.

रैम किस तरह की मेमोरी है

RAM एक Primary Memory है. अगर मैं बात करूं तो Computer में 3 मुख्य प्रकार के Memory होते हैं.
Primary Memory
Secondary Memory
Cache Memory

रैंडम एक्सेस मेमोरी क्या है

RAM एक प्रकार की Volatile Memory होती हैं. इसकी वजह से Ram के अंदर जो भी डाटा सेव रहता है वो device बंद होने के बाद Delete हो जाता है. Ram को Direct Access Memory भी कहा जाता हैं.

रैम कितने प्रकार की होती है

देखा जाए तो इस दुनिया में ऐसी कोई चीज नहीं है. जिसको आगे और भी Update ना किया जाए. लोग  हमेशा कुछ न कुछ अपडेट करने के लिए तत्पर रहते हैं. क्योंकि वह चाहते हैं कोई भी चीज और भी अच्छा बन सके.  तो ऐसे में RAM को भी अच्छा बनाने के लिए कोशिश करते रहते हैं इसलिए RAM दो प्रकार के होते हैं.

आज आपने क्या सीखा

तो दोस्तों आपको यह आर्टिकल कैसे लगा और मैंने इस आर्टिकल में आपको रैम क्या हैं | What is RAM in Hindi  मैं विस्तार से समझाया हुआ है. जिससे कि आप पूरी तरह से इस आर्टिकल को समझ पाए.

हमें उम्मीद है कि आपका जो समस्या था या आपका जो प्रश्न था रैम क्या हैं | What is RAM in Hindi उसका उत्तर यानी कि उसका जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल गया होगा अगर आपको कोई भी समस्या है इस आर्टिकल को लेकर या आपको कोई परेशानी है अपने प्रश्नों को लेकर दो नीचे कमेंट जरूर करें हम आपको सही निर्देश देने की हर तरह से खूबसूरत करते रहेंगे. रैम क्या हैं | What is RAM in Hindi

आज के इस आर्टिकल में हमने यह सिखा कि रैम क्या हैं | What is RAM in Hindi आप हमें कुछ भी सुझाव दे सकते हैं और हम उस पर खरा उतरने का पूरा प्रयास करेंगे और जब आप हमें कोई भी सुझाव देंगे तब हमें बहुत खुशी होगी.

अगर आपको इस आर्टिकल से जानकारी अच्छे से मिल गई हो तो कृपया करके इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर करना ना भूले। आप इस आर्टिकल को Facebook, Twitter, Instagram,‌ Whatsapp या अन्य सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं.

https://techjugut.com

Hi! I'm Adarsh Pandey and I'm here to post some really cool stuff for you. If you have any ideas or any requests please get [email protected], you can also Follow me on instagram! 💗

Leave a Comment