[2021] Cryptocurrency Meaning in Hindi

Cryptocurrency Meaning in Hindi: आज की इस आर्टिकल में मैं आपसे बात करने वाला हूं बिटकॉइन के बारे में और आपको Cryptocurrency Meaning in Hindi, Bitcoin क्या है, Cryptocurrency Price, cryptocurrency news इसके बारे में पूरी डिटेल से इस आर्टिकल में बताने जा रहा हूं इसको पूरा जरूर पड़ेगा कि आप पूरी तरीके से समझ जाएगी Cryptocurrency Meaning in Hindi, Bitcoin क्या है?.

Cryptocurrency meaning in hindi | Bitcoin क्या है ? | Bitcoin Kya Hai Hindi me | Crypto Currency | Bitcoin Cryptocurrency Kya Hai | Cryptocurrency Price | cryptocurrency news

Cryptocurrency Meaning in Hindi | Bitcoin क्या है ?

क्या Amazine कर सकते हो ऐसी चीज जिसकी Value इन 10 साल पहले ० थी। और आज इसकी Value 1500000 से भी ऊपर जा चुकी है। मैं बात कर रहा हूं Bitcoin की। जिस ने कुछ महीने पहले अपना all-time हाई प्राइस टच किया है और इस उछाल से इसकी चर्चा Market में Media में होने लग गई है।

Bitcoin का इतिहास

31 अक्टूबर 2008 एक इंसान जिसका नाम है Satoshi Nakamoto  इन्होंने Internet पर एक Paper Publish किया और इनका मकसद उनकी पहली लाइन से ही साफ नजर आ गया था। 

इसका मतलब Crypto Currency एक Digital ऐसेट है जिसके ऊपर Central Bank या Financial Institution कोई भी कंट्रोल नहीं होगा। इसे Indian Rupees को Reserved Bank ( भारतीय रिजर्व बैंक ) control करता है और US Dollar को Federal Reserved control करता है ठीक वैसे ही Bitcoin को कोई Central Bank या Financial Institution कंट्रोल करेगा।

उस टाइम Crypto Currency सिर्फ एक Idea था जो लोगों के मन में था और आज लाखों करोड़ों अरबों रुपए की Turning होती है. जैसे शेष की ट्रेनिंग होती है नॉर्मल स्टॉक मार्केट में ठीक ऐसे ही। दोस्तों सतोशी के पेपर Crypto Currency का concept समझने के लिए हमें अपना आर्थिक इतिहास समझना पड़ेगा।

हमारे जो Financial System है वह भरोसे यह ड्रेस पर आधारित है. Currency Notes और Coins कि हमारे समाज में इसलिए वैल्यू है क्योंकि सरकार और Central Bank के द्वारा यह समर्थक है. गारंटीड है और सुरक्षित भी।

आप अपनी जेब से कोई भी नोट निकाली है उसमें लिखा होगा मैं भारत को ₹200 अदा करने का वचन देता हूं और वहीं पर सेंट्रल बैंक के गवर्नर का साइन देखने को मिलता है और इसी वचन के कारण इसकी समाज में वैल्यू है वरना कोई वैल्यू नहीं है। बिना सिग्नेचर के यह सिर्फ एक मामूली से सा कागज कहलाएगा यहां मैं आपको एक छोटी सी और बड़ी रोमांचक कहानी बताता हूं।

दूसरे विश्व युद्ध के बाद USA सबसे PowerFull Country बन गया था। तो बाकी सारे देशों को अपने रुपए को बाकी सारे डॉलर्स के साथ जोड़ना पड़ा । और वही USA Dollar सोने के भंडार से गारंटी था यानी गोल्ड रिजर्व से -जो एक्चुअल वैल्यू होती है तो सोने और चांदी में ही होती है लेकिन सोने को कोई अपनी जेब में लेकर घूम नहीं सकता और कन्वीनियंस के लिए हमारा रुपया हमारा पैसा यह करेंसी नोट बनाया गया है।

USA ने 1971 म Gold के सेंडल को खत्म कर दिया क्या था। जिसके बाद से बाकी सारे देश अपनी मर्जी से नोट छाप सकते थे। लेकिन इन सब से क्या लेना देना है Bitcoin और Cryptocurrency का। और आप इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि Central Bank और सरकार कितने ज्यादा PowerFull है पैसों के मामले में।

जो आप पैसा भरते हैं अपने Account में वह Bank दूसरों को लोन देता है और उसी इंटर से आपके खाते में भी इंटरेस्ट आता है। और इसी से Bank इरिस्पांसिबल हो जाते हैं और बड़े Industries को बिना चेक साइन करें पैसा दे देते हैं और इसमें पिता कौन है हम आम इंसान।

और यही कारण है लोग बिटकॉइन और क्रिप्टो करेंसी को पसंद करते हैं क्योंकि इससे सरकार और सेंट्रल बैंक के पास पैसा नहीं जाता है अब तो समझ में आपको आई क्या होगा संतोषी तक क्या ओरिजिनल अब बहुत थी अच्छा अन्यथा हम हम इंसानों के प्रति। संतोषी ने Bitcoin को एक Alternative Financial System जैसा सोचा था। जो Software Technology पर आधारित होगा और 3rd Party के कंट्रोल पर नहीं होगा।

Cryptocurrency meaning in hindi | Bitcoin क्या है ? | Bitcoin Kya Hai Hindi me | Crypto Currency | Bitcoin Cryptocurrency Kya Hai | Cryptocurrency Price | cryptocurrency news

Crypto Technology काम कैसे करती है | Cryptocurrency Meaning in Hindi

सच कहूं तुझे समझने के लिए Advanced गणित और कंप्यूटर साइंस की बहुत जानकारी होनी जरूरी है। जो कि मेरे पास नहीं है लेकिन अगर आपको Normal Trading शुरू करनी है तो आपके लिए बेसिक जानकारी काफी है।

बिटकॉइन का एग्जांपल लेते हैं। सारे Bitcoin का एक Public Account होता है सारे Bitcoin का एक पब्लिक खाता होता है जिसे LEDGER कहते हैं। और इस खाते की कॉपी हर एक System के होती है जो कि Bitcoin Network का हिस्सा है और जो लोग यह System चलाते हैं उन्हें MINERS कहते हैं। और इनका काम है ट्रांजिशंस को Verify करना। मान लीजिए A ko B अकाउंट में 2 बिटकॉइन भेजने हैं तो इन्हीं कंफर्म करना पड़ेगा कि वाकई में A के पास दो बिटकॉइन है भी या नहीं ‌।

हॉट इन – को Verify करने के लिए बहुत ही कठिन गणित सॉल्व करनी पड़ेगी। अपनी शायद स्कूल में वैरियेबल्स पड़ा होगा हर एक बिटकॉइन का एक Unique Variable होता है। और Miners का काम है इन्हें ढूंढ कर निकालना। और ऐसा भी नहीं है कि यह पैन और पेपर लेकर बैठ जाता है इन्हें Computer द्वारा यह करना पड़ता है क्योंकि इसमें करोड़ों में गणित होती है। इसी वजह से miners को बहुत ही high पावर वाले  Computer की जरूरत होती है। और यह इक्वेशन सॉल्वर होते ही बाकी Computer इसे कंफर्म करते हैं और यह चीन में ऐड जाती है।

और ट्रांजिशंस का एक ब्लॉक बन जाता है इसीलिए इस Technology  का नाम है लॉक चीन (Block Chain)| और इन्हीं मनीष को यह सब पूरा काम करने के लिए सबसे कीमती चीज मिलती है जोकि है बिटकॉइन। लेकिन आप इतनी सब चीजें जानकर घबराइए मत क्योंकि इससे जरूरी है बिटकॉइन को हर कोई इस्तेमाल कैसे कर सकता है

कुछ लोग इसे Investment के तौर पर यूज़ करते हैं और कुछ लोग Currency Exchange के मामले में यूज करते हैं।बात यह है कि आज इसकी समाज में इतनी इज्जत नहीं है क्योंकि कुछ लोग कहते हैं इसको हम छू नहीं सकते हैं और Rupee पैसे को छू सकता है इसीलिए यह ज्यादा बाकी लोगों से वंचित नहीं है. Crypto medium of exchange नहीं है। 

इसका मतलब क्या है आप अपनी बगल वाली दुकान पर जाकर कुछ भी  Bitcoin से सामान नहीं खरीद सकते हैं। हालांकि है बदल सकता है क्योंकि कुछ Western Countries है वहां पर Bitcoin को restaurants में alternative currency यूज करना शुरू हो गया है. लेकिन ऐसा मुमकिन नहीं है क्योंकि ट्रांजिशन करने में बहुत ही समय खर्च होता है और Calculation करनी बहुत ही टाइम लगता है इसीलिए कोई इतनी देर तक तो बैठ पाएगा नहीं।

Bitcoin के लाभ

लेकिन कुछ चीजों में इसका बहुत ही अच्छा इस्तेमाल हो रहा है- जैसे कि foreign funds transfer । एक उदाहरण के साथ बताता हूं जैसे कि आपका कोई मित्र दूसरे किसी देश में है और आपको उसे पैसे ट्रांसफर करने हैं तो अगर आप बैंक से ट्रांसफर करेंगे तो उसमें बहुत ही ज्यादा फीस चार्ज कर लेते हैं. 

यह और बहुत ही ज्यादा टाइम लग जाता है जिससे आपको भी दिक्कत हो सकती है और आपके दोस्त को भी। और उसी जगह Bitcoin कोई transfer fee charge नहीं करता. और कोई मात्र 10 मिनट में आपका ट्रांजिशन सक्सेसफुल हो जाता है लेकिन उसी जगह बैंक्स दो से 3 दिन भी लगा देते हैं।

इसी कारण से बैंक्स Crypto Currency ऐसे Bitcoin के विरुद्ध थे और आज भी हैं क्योंकि इस दिन में उनका बहुत ही ज्यादा घाटा है। क्योंकि यह इनके बिजनेस को भारी टक्कर दे सकता है।

लेकिन महामारी के बाद काफी कुछ बदल सा गया है जहां पर Mutual Funds और काफी industries struggle कर रहे हैं। महिपाल बिटकॉइन और क्रिप्टो करेंसी ऐसी चीज का भाव बढ़ता ही गया है। इस साल के 1 मार्च है और 30 तारीख तक बिटकॉइन की 120% से ज्यादा वैल्यू बड़ी है इसका मतलब दुगना से भी ज्यादा हो गई है. दुनिया की सबसे बड़ी digital payments company जैसे PayPal ने November में crypto transaction ka feature लाया।

JP Morgan Bank जोकि Bitcoin का सबसे बड़ा दुश्मन हुआ करता था। जिस वक्त बिटकॉइन का ग्राफ काफी तेजी से ऊपर बढ़ रहा था उस समय उनके फाउंडर ने कहा था यह सब फ्रॉड है और कुछ समय पहले मशहूर crypto exchanges जैसे coin base और jebeny के लिए corporate account open करवाए हैं।

जैसा कि आप देख सकते हैं दोस्तों जो बिटकॉइन के रास्ते बंद थे अब धीमे धीमे खुलते जा रहे हैं और सब के खुले विचार देख रहे हैं । हम भारत की बात करें तो भारत में भी attitude में change आया है।

अप्रैल 2018 mey RBI ne crypto industry ko banking se freeze out kr diya tha और हर किसी को आदेश दिया था क्रिप्टो से कोई भी ढील ना करें। और मीडिया में खबर फैल गई कि आरबीआई ने क्रिप्टो पर बैन लगा दिया है। लेकिन यह अफवाह है कभी भी क्रिप्टो को भारत में बैन नहीं करा गया था। बल्कि crypto ka banking access kaat diya tha । 

इसका मतलब यह था कि भारत के कोई भी नागरिक crypto platform pr भारतीय रुपए में डील नहीं कर सकती थी। बैंक्स इन के साथ काफी सख्ती से पेश आए। और इन बैंक्स के फ्रीज होने के नाते वह अपने एंपलॉयर्स को तनखा नहीं दे पाते थे। अपने मकान म।लिक को किराया नहीं भर पाते थे। क्योंकि सवाल यह उठता है कि आरबीआई ने ऐसा करा क्यों।

Cryptocurrency Meaning in Hindi | Bitcoin क्या है

Also Read:

कुछ Negative बातें

Crypto Currency बनाना बहुत ही आसान काम है इसीलिए बहुत होने Crypto Currency  बनाएं और उसका डॉक्टर दीपक पर गलत इस्तेमाल करे

बहुत ही ज्यादा प्रोडक्ट चेंज हुए और लोगों को सफर करना पड़ा। कुछ लोग नकली Crypto Currency बनाते थे जिसमें लोग इन्वेस्ट करते थे और उन्हें बेवकूफ बनाया जाता था और उनका पैसा लूट लिया जाता था.

Summary जानते हैं

• Cryptocurrency ke international trading aur exchange currency hai

• Bitcoin sabse pahili currency hai jo ki santoshi naam ek insaan ne shuru ki thi

• India me kaafi suffer karna pada..

• Hum insaan ko interest kam dena padta tha.

• Banks ne protest kra kyuki inse unka ghanta tha .

कुछ Apps

कुछ apps जिस से आप  Crypto currency खरीद सकते है वो है  Zebpay, Coinswitch, OctaFx.

यह जानकारी के साथ ही हम आपसे निवेदन करते हैं कि आप इस ब्लॉग को अच्छे से पढ़े तभी आपको समझ में आएगा। तभी आप सुरक्षित महसूस करेंगे कि आपको Cryptocurrency में trading करनी चाहिए कि नहीं.

आज आपने क्या सिखा

तो दोस्तों आपको यह आर्टिकल कैसे लगा और मैंने इस आर्टिकल में आपको Cryptocurrency Meaning in Hindi | Bitcoin क्या है  मैं विस्तार से समझाया हुआ है| जिससे कि आप पूरी तरह से इस आर्टिकल को समझ पाए ।

हमें उम्मीद है कि आपका जो समस्या था या आपका जो प्रश्न था उसका उत्तर यानी कि उसका जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल गया होगा अगर आपको कोई भी समस्या है इस आर्टिकल को लेकर या आपको कोई परेशानी है अपने प्रश्नों को लेकर दो नीचे कमेंट जरूर करें हम आपको सही निर्देश देने की हर तरह से खूबसूरत करते रहेंगे।

आज के इस आर्टिकल में हमने यह सिखा कि Cryptocurrency Meaning in Hindi | Bitcoin क्या है. आप हमें कुछ भी सुझाव दे सकते हैं और हम उस पर खरा उतरने का पूरा प्रयास करेंगे और जब आप हमें कोई भी सुझाव देंगे तब हमें बहुत खुशी होगी।

अगर आपको इस आर्टिकल से जानकारी अच्छे से मिल गई हो तो कृपया करके इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर करना ना भूले। आप इस आर्टिकल को Facebook, Twitter, Instagram,‌ Whatsapp या अन्य सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं.

https://techjugut.com

Hi! I'm Adarsh Pandey and I'm here to post some really cool stuff for you. If you have any ideas or any requests please get [email protected]chjugut.com, you can also Follow me on instagram! 💗

Leave a Comment