3D Printer क्या है और उपयोग कैसे होता है?

3D Printer क्या है?: आज की इस जमाने में आप सभी ने प्रिंटर तो देखा ही होगा क्योंकि प्रिंटर से हम अपनी फोटो या कोई भी फोटो कॉपी करते हैं. एक 3D Printer या जिसे 3 Dimensional Printer भी कहा जाता है, वास्तव में एक प्रिंटर (printer) है जो किसी भी वस्तु को ठीक उसी तरह प्रिंट (print) करने में सक्षम है जैसे वह है.

आपने 2डी प्रिंटर (2d printer) के बारे में तो पढ़ा ही होगा. 2D का अर्थ है “दो आयामी (Two Dimensional)” जो छवि को X अक्ष और Y अक्ष (axis) में प्रिंट (print) करता है. लेकिन 3डी प्रिंटर (3d printer) 2डी प्रिंटर से एडवांस है. 3D का अर्थ है 3 आयामी (dimensional) यह X अक्ष, Y अक्ष और Z अक्ष में प्रिंट करता है. जो हमारे चारों ओर से देखा जाता है, तब आपको पता चल जाएगा कि 3D Printer क्या है (What is 3D Printer).

शायद आप सभी जानते हैं कि प्रिंटर क्या है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि 3D Printer क्या है और यह कैसे काम करता है? यदि आप अन्य लोगों की तरह इसके बारे में कुछ नहीं जानते हैं और सब कुछ जानना चाहते हैं, तो आपको इस लेख को पूरा पढ़ना चाहिए.

जहां एक सामान्य प्रिंटर (normal printer) केवल 2D में ही प्रिंट कर पाता है, वहीं एक 3D Printer इससे ज्यादा एडवांस होता है और यह चीजों को वास्तविक वस्तु की तरह त्रि-आयामी प्रिंट (three dimensional print) कर सकता है. इससे आप अपनी कल्पना के अनुसार वस्तु को डिजाइन (design) कर सकते हैं. यह सहजता और सुगमता वही है जो एक 3D Printer आपको प्रदान करता है.

यदि आप 2D या 3D के बारे में नहीं जानते हैं तो ये 2 आयामी (dimensional) और 3 आयामी (dimensional) हैं. अर्थात यदि कोई वस्तु समतल सतह पर रखी जाए तो उसमें उसकी स्थिति x-अक्ष, y-अक्ष और z-अक्ष में देखी जा सकती है. इससे आप उस वस्तु की गहराई देख सकते हैं, 3D वस्तु वास्तविक वस्तुओं की तरह पूरी तरह से दिखाई देती है.

जहां आप 2d मॉडल को केवल सामने देख सकते हैं, जबकि 3d मॉडल आप सभी तरफ से आगे और पीछे देख सकते हैं. जैसा कि हम अपने वास्तविक जीवन में चीजों को देखते हैं.

वैसे 3D Printing मशीन क्या है और यह कैसे काम करती है, इससे जुड़ी सारी जानकारी पाने के लिए इस लेख (article) को अंत तक पढ़ें. वहीं इसके काम करने की पूरी प्रक्रिया को आसान भाषा (language) में बताया गया है. आशा है कि आपको यह लेख 3D Printer क्या है पसंद आया होगा. तो बिना देर किए चलिए आगे बढ़ते हैं. 3D Printer क्या है

3D प्रिंटिंग क्या है (What is 3D Printing)

Three-Dimensional (3D Printer) Three-Dimensional Printer नई पीढ़ी की प्रिंटिंग मशीन है. इसे additive manufacture भी कहा जाता है. जो 3D थ्री डायमेंशनल (three-timensional) डिजिटल मॉडल की वस्तु को परत दर परत बनाता है.

3D Printer क्या है

3डD प्रिंटेड ऑब्जेक्ट (printed object) बनाने के लिए एडिटिव प्रोसेस (additive process) का इस्तेमाल किया जाता है. इस योगात्मक प्रक्रिया (additive process) में एक वस्तु बनाने के लिए, सामग्री को एक के बाद एक परतों (layers) में एक के ऊपर एक रखा जाता है जब तक कि वह वस्तु नहीं बन जाती. इसमें, आप प्रत्येक परत को अंतिम वस्तु के पतले कटा हुआ क्षैतिज क्रॉस-सेक्शन (horizontal cross-section) के रूप में देख सकते हैं जिसे आप अंत में बनाना चाहते हैं.

3D Printer सबट्रेक्टिव मैन्युफैक्चरिंग (subtractive manufacturing) के बिल्कुल विपरीत है जहां एक मिलिंग मशीन (milling machine) का उपयोग करके एक वस्तु को धीरे-धीरे छोटे टुकड़ों में काट दिया जाता है.

3D Printer आपको बहुत जटिल (कार्यात्मक) आकार बनाने में सक्षम बनाती है जो पारंपरिक निर्माण विधियों के साथ करना बहुत मुश्किल है. वहीं, इसके लिए बहुत कम चीजों की जरूरत होती है.

इसका आविष्कार 1984 में चक हल (chuck hull) द्वारा किया गया था. 3D Printer वस्तुओं के निर्माण के लिए मिश्र धातु, पॉलिमर, प्लास्टिक और खाद्य सामग्री जैसी सामग्रियों का उपयोग करते हैं.

3D प्रिंटर का इतिहास क्या है?

मैन्युफैक्चरिंग (manufacturing) का इतिहास खोलकर देखें तो पहली बार सबट्रेक्टिव तरीकों (subtractive methods) का इस्तेमाल किया गया है. मशीनिंग के पूरे साम्राज्य में (जिसमें सटीक आकार उच्च परिशुद्धता के साथ निर्मित होते हैं), घटिया तरीकों को अधिक महत्व दिया गया है, जिसमें फाइलिंग (filing) और टर्निंग (Turning) के बाद मिलिंग और ग्राइंडिंग होती है.

एडिटिव मैन्युफैक्चरिंग एप्लिकेशन (additive manufacturing application) को पूरे मैन्युफैक्चरिंग स्पेक्ट्रम (manufacturing spectrum) में अंतिम स्थान दिया गया है.

उदाहरण के लिए, रैपिड प्रोटोटाइप (rapid prototyping) शुरुआती एडिटिव वेरिएंट (additive variants) में से एक था और इसका मिशन लीड समय और लागत को कम करना था जब नए भागों और उपकरणों के प्रोटोटाइप (prototypes) विकसित किए जा रहे थे, पहले घटिया टूलरूम विधियों (subtractive toolroom methods) (जो आमतौर पर धीमी और महंगी) का उपयोग किया जाता था.

लेकिन जैसे-जैसे प्रौद्योगिकी (techonology) में प्रगति शुरू हुई, विनिर्माण में योगात्मक विधियों (additive methods) का अधिक उपयोग किया जाने लगा. एक समय जहाँ केवल घटाव विधियों का उपयोग किया जाता था, अब योगात्मक विधियों का उपयोग करके लाभ अर्जित किया जा रहा है. आप पढ़ रहे है: 3D Printer क्या है?

दूसरी ओर, यदि हम व्यावसायिक उत्पादन में नई योगात्मक प्रौद्योगिकियों के वास्तविक एकीकरण के बारे में बात करते हैं, तो घटाव विधियों का उपयोग पूरक के आधार पर घटाव विधियों (subtractive methods) के साथ किया जाना चाहिए, न कि उन्हें पूरी तरह से समाप्त करने के लिए.

वाणिज्यिक विनिर्माण (commercial manufacturing) के भविष्य के बारे में बात करते हुए, विनिर्माण फर्मों को प्रतिस्पर्धी (competitive) बने रहने के लिए सभी उपलब्ध प्रौद्योगिकियों के लचीले, निरंतर सुधार करने वाले उपयोगकर्ताओं की आवश्यकता होती है. आप पढ़ रहे है: 3D Printer क्या है?

3D Printer कैसे काम करता है? – How does 3D printer work

3D ऑब्जेक्ट (object) को प्रिंट करने की प्रक्रिया यह है कि, किसी भी 3D मॉडलिंग प्रोग्राम (modeling program) में, उदाहरण के लिए, CAD (Computer-aided design) द्वारा बनाया गया एक डिजिटल डिज़ाइन या किसी मौजूदा 3D objects को स्कैनर (scanner) से स्कैन करके शुरू होता है.

स्कैनर (scanner) वस्तु की एक प्रति बनाता है और फिर उसे 3D Modeling Program में डालता है और फिर डिजाइन को एक डिजिटल फाइल में बदल दिया जाता है. जो उस मॉडल की सैकड़ों और हजारों परतें बनाता है.

3D Printer design की प्रत्येक परत को पढ़ता है और फिर उन सभी को एक साथ प्रिंट करता है. जिसका परिणाम 3D objects होता है और इसे ओरिजिनल डिजिटल मॉडल भी कहा जाता है.

जब आप अपने सिस्टम (system) में 3D मॉडल बनाते हैं तो 3D Printing आपके कंप्यूटर (computer) से शुरू होती है. इसमें यह डिजिटल डिजाइन एक CAD (Computer-aided design) फाइल है.

एक 3D Model या तो 3D Modeling Software द्वारा तैयार किया जाता है जो 3D स्कैनर (scanner) से उत्पन्न डेटा पर आधारित होता है. जबकि 3D Scanner की मदद से आप किसी ऑब्जेक्ट (objects) की डिजिटल कॉपी (digital copy) बना सकते हैं. आप पढ़ रहे है: 3D Printer क्या है?

3D Printing टेक्नॉलजी का आविष्कार किसने किया था?

3डी प्रिंटिंग तकनीक का आविष्कार चक हल ने 1984 में किया था.

3D Scanning

यह एक ऐसी प्रक्रिया (process) है जिसमें वास्तविक दुनिया की वस्तु या पर्यावरण का विश्लेषण उनके आकार और स्वरूप के बारे में डेटा एकत्र करने के लिए किया जाता है. इन एकत्रित डेटा से फिर डिजिटल 3D मॉडल बनाए जाते हैं.

3D वस्तु को प्रिंट कैसे करे – How to print 3D object

#1. सबसे पहले CAD या 3D डिज़ाइनर सॉफ़्टवेयर (designer software) का उपयोग करके एक 3D मॉडल बनाएं.

#2. इस ड्राइंग (drawing) को STL (Standard Tessellation Language) फाइल फॉर्मेट में बदलें क्योंकि 3D Printer एसटीएल फाइल का उपयोग करता है।

#3. STL फ़ाइल को 3D Printer को नियंत्रित करने वाले कंप्यूटर में स्थानांतरित करें, फिर आप इसके आकार और अभिविन्यास का पता लगा सकते हैं.

#4. वह 3D Printer तैयार करें जिसका उपयोग आप आवश्यकतानुसार नए प्रिंट के लिए कर रहे हैं.

#5. अब इसे प्रिंट करने की प्रक्रिया शुरू करें इसमें प्रत्येक परत आमतौर पर 0.1 मिमी (mm) मोटी होती है,
इसलिए, इस वस्तु के निर्माण में घंटों से लेकर दिनों तक का समय लगता है. और यहाँ इसके आकार पर निर्भर करता है.

#6. अब वस्तु को 3D Printer से बाहर निकालें और उसे जहरीले पदार्थों या गर्म सतहों से बचाएं.

#7. यदि आप किसी नई मुद्रित वस्तु की सफाई कर रहे हैं, जैसे अवशेषों को ब्रश से साफ करना या उसे पिघलाना, तो इस कार्य को करते समय सावधानी बरतें. अब आप अपने नए Printed Object का इस्तेमाल कर सकते हैं. आप पढ़ रहे है: 3D Printer क्या है?

3D प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी के प्रकार

3डी प्रिंट के कई तरीके हैं. ये सभी प्रौद्योगिकियां (technology) योगात्मक हैं, भले ही वे भिन्न हों, मुख्य रूप से जिस तरह से किसी वस्तु को बनाने के लिए परतें बनाई जाती हैं. आप पढ़ रहे है: 3D Printer क्या है?

Additive Manufacturing Technologies के लिए Standard Terminology के तहत, 7 प्रक्रियाओं का उपयोग किया जाता है.

  1. Vat Photopolymerization
    1.1 Stereolithography (SLA)
    1.2 Digital Light Processing (DLP)
    1.3 Continuous Liquid Interface Production (CLIP)
  2. Material Jetting
  3. Binder Jetting
  4. Material Extrusion
    4.1 Fused Deposition Modeling (FDM)
    4.2 Fused Filament Fabrication (FFF)
  5. Powder Bed Fusion
    5.1 Selective Laser Sintering (SLS)
    5.2 Direct Metal Laser Sintering (DMLS)
  6. Sheet Lamination
  7. Directed Energy Deposition

3D प्रिंटिंग का मुख्य उपयोग क्या है

3D Printer का उपयोग अंतरिक्ष इंजीनियरिंग, ऑटोमोटिव, रोबोटिक्स, औद्योगिक उपकरण, स्वास्थ्य देखभाल, उत्पाद डिजाइन, मनोरंजन, शिक्षा के क्षेत्र में किया जाता है.

Automotive

ऑटोमोटिव उद्योग (automotive industry) को भी 3D Printing से अत्यधिक लाभ हुआ है क्योंकि यह उन्हें अपना अनुकूलन आसानी से करने की अनुमति देता है और वह भी बहुत कम समय में. आप पढ़ रहे है: 3D Printer क्या है?

Robotics

रोबोटिक्स (robotics) और ऑटोमेशन (automotion) की दुनिया में, नए रोबोटिक तंत्र (robotic mechanisms) विकसित करने के लिए कस्टम वन-ऑफ पार्ट्स की हमेशा आवश्यकता होती है. 3D Printing बहुत जल्द ही इस उद्योग में मुख्य निर्माण तकनीक के रूप में विकसित हो गई है, क्योंकि उनकी गति, महान डिजाइन स्वतंत्रता और अनुकूलन में आसानी है.

Healthcare

आपको जानकर हैरानी होगी कि अमेरिका (america) में हियरिंग एड (hearing aids) का निर्माण एक्सक्लूसिव तौर पर 3D Printer की मदद से किया जाता है. जबकि कंपनियां जो नई तकनीक को जल्दी नहीं अपनाती हैं, उन्हें बाद में काफी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ता है.

जब उन्होंने 3D Printer को अपनाया तो हेल्थकेयर (healthcare) और प्रोस्थेटिक्स क्षेत्र को बहुत फायदा हुआ है. मैनुअल श्रम के साथ अब कस्टम आकार बनाने की कोई आवश्यकता नहीं है, जैसे श्रवण यंत्र. उन्हें आसानी से एक डिजिटल फाइल (digital file) के साथ तुरंत बनाया जा सकता है. इससे इन्हें बहुत ही कम लागत में और जल्दी से बड़ी मात्रा में तैयार किया जा सकता है. आप पढ़ रहे है: 3D Printer क्या है?

Entertainment

3D Printer अब फिल्म निर्माताओं (movie makers) के लिए एक बहुत ही पसंदीदा उपकरण (device) बन गया है, क्योंकि इसमें विश्वसनीय प्रॉप्स बनाने की क्षमता है. अपने उच्च डिजाइन लचीलेपन (flexibility) के कारण, यह मनोरंजन पेशेवरों (entertainment professionals) को उनकी सोच के अनुसार चीजों को बनाने में मदद करता है. इसे बहुत ही आसानी से और जल्दी से बनाया जा सकता है, इसके अलावा इसकी कीमत भी बहुत कम होती है.

Aerospace

एयरोस्पेस (Aerospace) और स्पेस इंजीनियर (Space Engineer) उच्च प्रदर्शन वाले पुर्जों के निर्माण के लिए 3D Printing का उपयोग करते हैं. उनके पास टोपोलॉजी अनुकूलित संरचनाएं बनाने की क्षमता है जिसमें उच्च शक्ति-से-भार अनुपात और एक ही हिस्से में कई घटकों को समेकित करने की क्षमता है, जो बहुत आकर्षक है.

3D Printer के लाभ

  • गलती की संभावना बहुत कम होती है.
  • यह कम कीमत पर सामान बनाती है.
  • किसी वस्तु को बनाने में कम समय लगता है.
  • 3D printer का एक फायदा यह है कि यह बेकार या बेकार वस्तुओं का निर्माण करता है.

3D Printer के नुकसान

  1. इसके उपयोग के कारण इसके उपयोग में बहुत अधिक श्रम लागत की आवश्यकता नहीं होती है, जिससे नौकरियों में गिरावट आती है.
  2. 3D मॉडल डिजाइन (design) करने के लिए विशेष योग्यताओं की आवश्यकता होती है. आप पढ़ रहे है: 3D Printer क्या है?

3D प्रिंटिंग के खोजकर्ता

3D प्रिंटिंग के खोजकर्ता चक हल (Chuck Hull) है.

3d तकनीक क्या है

3डी प्रिंटर एक कंप्यूटर एडेड मैन्युफैक्चरिंग (CAM) डिवाइस है जो थ्री-डायमेंशनल ऑब्जेक्ट बनाता है. आप पढ़ रहे है: 3D Printer क्या है?

3D printer price in India

एक 3D Printer की कीमत उसकी कार्यक्षमता और विशेषताओं पर निर्भर करती ह. Amazon (amazon.in) पर 3D Printer की कीमत पर नजर डालें तो ये 3D Printer आपको 10 हजार से लेकर 80 हजार तक में मिल जाएंगे.

आज आपने क्या सीखा

तो दोस्तों आपको यह आर्टिकल कैसे लगा और मैंने इस आर्टिकल में आपको 3D Printer क्या है मैं विस्तार से समझाया हुआ है| जिससे कि आप पूरी तरह से इस आर्टिकल को समझ पाए .

हमें उम्मीद है कि आपका जो समस्या था या आपका जो प्रश्न था 3D Printer क्या है में कब लॉन्च होगा? समस्या है इस आर्टिकल को लेकर या आपको कोई परेशानी है अपने प्रश्नों को लेकर दो नीचे कमेंट जरूर करें हम आपको सही निर्देश देने की हर तरह से खूबसूरत करते रहेंगे. 3D Printer क्या है?

आज के इस आर्टिकल में हमने यह सिखा कि 3D Printer क्या है आप हमें कुछ भी सुझाव दे सकते हैं और हम उस पर खरा उतरने का पूरा प्रयास करेंगे और जब आप हमें कोई भी सुझाव देंगे तब हमें बहुत खुशी होगी.

अगर आपको इस आर्टिकल से जानकारी अच्छे से मिल गई हो तो कृपया करके इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर करना ना भूले। आप इस आर्टिकल को Facebook, Twitter, Instagram,‌ Whatsapp या अन्य सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं.

https://techjugut.com

Hi! I'm Adarsh Pandey and I'm here to post some really cool stuff for you. If you have any ideas or any requests please get [email protected], you can also Follow me on instagram! 💗

Leave a Comment